वैशाख माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी, विनायक चतुर्थी

वैसे सनातन धर्म के कैलेंडर में प्रतिमाह दो चतुर्थी आती है। यह तिथि प्रथम पूज्य श्री गणेश को समर्पित है। जयेष्ठ माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि का विशेष महत्व है। वैशाख माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को विनायक चतुर्थी कहा जाता है। वैशाख मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि 10 जून सोमवार को को मनाई जायेगी। जीवन में सुख-शांति के लिए व्रत रखा जाता है। भगवान गणेश की पूजाअर्चना करने के बाद उन्हें मोदक का भोग लगाया जाता है। प्रथम पूज्य को मोदक प्रिय हैं।

आज मनाई जायेगी विनायक चतुर्थी
हिंदू कैलेंडर के अनुसार, 9 जून रविवार को दोपहर तीन बजकर 44 मिनट पर ज्येष्ठ माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि शुरू हो रही है और यह 10 जून सोमवार को शाम चार बजकर 14 मिनट पर समाप्त होगी। ऐसे में उदयातिथि के आधार पर विनायक चतुर्थी का व्रत 10 जून सोमवार को रखा जाएगा।

गणपति बप्पा के प्रिय भोग
विनायक चतुर्थी का पर्व बुद्धि, ज्ञान और समृद्धि के देवता भगवान गणेश जी को समर्पित है। इस दिन सुबह स्नान करने के बाद गणेश जी की पूजा करें और उन्हें प्रिय चीजों का भोग लगाएं। अगर आप गणपति बप्पा को प्रसन्न करना चाहते हैं तो उन्हें मोदक का भोग अवश्य लगाएं। गणेशजी को लड्डू भी बहुत पसंद है। भगवान गणेश को मोतीचूर, नारियल ,बेसन या मखाने के लड्डू, खीर, फल और मिठाई का भी भोग लगा सकते हैं।

 

 

Source : Agency

11 + 10 =

www.indialivenews24.in

Editor- in- Chief : Sanjeev Saxena

Mobile : +91-9993000283

Email : bplsanjeevsaxena@gmail.com

Address : House No A/7, Siddharth Chowk, Raipur